Home Trending News UP News Tech Haryana News Weather Gold-Silver Price More

7 लाख में Baleno की जगह खरीद सकते है ये दमदार कार, 26 किलोमीटर की माइलेज और सेफ्टी फिचर्स देख दिल हो जाएगा खुश

By Rahul Junaid

Published on:

भारतीय कार बाजार में ग्राहकों की सोच में एक महत्वपूर्ण परिवर्तन देखा जा रहा है। अब लोग सिर्फ कीमत, माइलेज और फीचर्स की जांच करने के बजाय लोग कार के सेफ्टी फीचर्स और बिल्ड क्वालिटी को भी तरजीह दे रहे हैं। यह बदलाव न केवल ग्राहकों की बढ़ती जागरूकता को दर्शाता है बल्कि सेफ्टी नॉर्म्स को लेकर उनकी बढ़ती मांग को भी प्रमाणित करता है।

ग्राहकों की बढ़ती जागरूकता और कार निर्माताओं के बीच सुरक्षा फीचर्स को लेकर बढ़ती प्रतिस्पर्धा भारतीय कार बाजार को एक नई दिशा दे रही है। यह ग्राहकों के लिए सुरक्षित और टिकाऊ विकल्पों का चयन करने में मदद करता है। जिससे उनकी यात्रा न केवल सुखद बल्कि सुरक्षित भी होती है।

सेफ्टी रेटिंग्स की महत्वपूर्ण भूमिका

आज के दौर में जब कोई भी व्यक्ति कार खरीदने जाता है, तो वह कार की सेफ्टी रेटिंग को भी बड़े ध्यान से देखता है। Global NCAP जैसी संस्थाएं कारों की सेफ्टी रेटिंग प्रदान करती हैं। जो एक व्यापक क्रैश टेस्ट के बाद कार की सुरक्षा क्षमता का मूल्यांकन करती हैं। इस प्रकार की रेटिंग से ग्राहकों को यह समझने में मदद मिलती है कि दुर्घटना की स्थिति में कार कितनी सुरक्षित रहेगी।

बलेनो के साथ अन्य कारों से सेफ्टी की तुलना

मारुति सुजुकी की बलेनो जो कि भारतीय बाजार में एक लोकप्रिय हैचबैक कार है। बलेनो की सेफ्टी रेटिंग पूर्व जनरेशन में NCAP में 0 स्टार रही है। यह डेटा ग्राहकों को निराश करता है। खासकर जब वे सुरक्षा को प्राथमिकता दे रहे हों।

इसके विपरीत टाटा अल्ट्रोज़ और हुंडई आई20 जैसी कारें जो समान मूल्य सीमा में हैं। उन्हें बेहतर सेफ्टी रेटिंग्स प्राप्त हैं। टाटा अल्ट्रोज़ को विशेष रूप से 5-स्टार ग्लोबल NCAP सेफ्टी रेटिंग प्राप्त है। जो इसे अपने सेगमेंट में सबसे सुरक्षित कार बनाती है।

टाटा अल्ट्रोज़ के सेफ्टी फीचर्स

टाटा अल्ट्रोज़ में ड्यूल एयरबैग, चाइल्ड सेफ्टी लॉक, टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम और स्पीड सेंसिंग डोर लॉक जैसे सुरक्षा उपाय मौजूद हैं। ये फीचर्स न केवल चालक और यात्रियों को सुरक्षा प्रदान करते हैं बल्कि एक विश्वसनीय ड्राइविंग अनुभव भी सुनिश्चित करते हैं।

Related Post