इंसान की पूरी बॉडी पर रंग करने का होता है कॉम्प्टिशन, 40 देशों के लोग इस अनोखी प्रतियोगिता में लेते है हिस्सा

सभी कला प्रेमियों को इस उत्सव में कई प्रदर्शनियों, कार्यशालाओं, डेमो या यहां तक कि बॉडी सर्कस में भाग लेने का मौका मिलता है।
 
World Bodypainting Festival In Austria

सभी कला प्रेमियों को इस उत्सव में कई प्रदर्शनियों, कार्यशालाओं, डेमो या यहां तक कि बॉडी सर्कस में भाग लेने का मौका मिलता है। यह एक कार्यक्रम है जहां उपस्थित लोगों को शरीर पेंट, मास्क और मेकअप लुक वाले सबसे अजीब ड्रेस पहनने का अवसर मिलता है।

1970 की तस्वीरें हैं इसकी प्रेरणा

1990 के दशक के अंत में ऑस्ट्रियाई एलेक्स बेरेन्ड्रेट ने 1970 के दशक की जर्मन मॉडल वेरुस्का की फैशन तस्वीरों को देखा, जिसमें सिर से पैर तक बॉडी पेंट लगा हुआ था। वह उत्सुक थे, लेकिन उनकी कलाकृति लोगों के सामने नहीं आई। इसलिए उन्होंने 1998 में यूरोप में पहला बॉडी-पेंटिंग फेस्टिवल लाने का निर्णय लिया।

ये भी पढ़े:20 पैसे की गिन्नी आपको बना सकती है मालामाल, इस जगह फूलों वाली गिन्नी को लाखों में खरीदने को तैयार है लोग

कहां और कैसे मनाया जाता है यह फेस्टिवल

दक्षिण ऑस्ट्रियाई शहर क्लागेनफर्ट में विश्व बॉडीपेंटिंग फेस्टिवल होता है। प्रतियोगी ब्रश, स्पंज और एयरब्रशिंग करते हैं। बॉडी पेंटिंग कार्यक्रम में मुख्य प्रतियोगिता से पहले एक सप्ताह की कार्यशालाएं भी होती हैं, साथ ही एक म्यूजिक फेस्टिवल।

ये भी पढ़े: रद्दी सा दिखने वाला ये 10 का नोट बदल देगा आपकी किस्मत, नोट में हुई ये खासियत तो रातोंरात बन सकते हैं लखपति

समय के साथ हुए हैं बदलाव

मानवता के प्रारंभिक काल से ही शरीर की कला अभिव्यक्ति का एक माध्यम रही है। हाल ही में कलाकारों ने कला क्षेत्र में नए तरीके अपनाए हैं और फैशन में बदलाव हुए हैं, जिससे लोगों का ध्यान आकर्षित हुआ है। 

रियलिटी टीवी शो पर भी यह आर्ट

विदेशों में बॉडी पेंटिंग की जागरूकता बढ़ी है और बहुत से लोग इसमें बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं। इस फेस्टिवल ने मीडिया को आकर्षित किया है। रियलिटी टीवी शो की तरह बॉडी पेंटिंग भी शुरू हुई है।

Tags