Petrol Pump पर तेल डलवाते वक्त आपको कोई नही लगा पाएगा चूना, छोटी सी जानकारी से हो जायेगा बड़ा फायदा

वर्तमान समय में डीजल और पेट्रोल की कीमतें बहुत अधिक हैं, और अगर आप पेट्रोल पंप पर चूना लगाते हैं तो आपको बहुत नुकसान होगा। ग्राहकों को पता भी नहीं चलता और पेट्रोल डालने वाला लगातार ठग रहा है।
 
Petrol Pump

वर्तमान समय में डीजल और पेट्रोल की कीमतें बहुत अधिक हैं, और अगर आप पेट्रोल पंप पर चूना लगाते हैं तो आपको बहुत नुकसान होगा। ग्राहकों को पता भी नहीं चलता और पेट्रोल डालने वाला लगातार ठग रहा है। लेकिन ठगी से बचने के लिए कुछ बातों पर ध्यान देना और कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए। हम इस लेख में विस्तार से बता रहे हैं कि पंप पर डीजल या पेट्रोल डालते समय ठगी से बचने के लिए क्या करें।

 गाइडलाइन जारी की

ज्यादातर लोग पेट्रोल पंप पर जाकर 100, 200 और 500 रुपये की राउंड फिगर खरीदते हैं। पेट्रोल पंप मालिक अक्सर राउंड फिगर को मशीन पर फिक्स करके रखते हैं, जिससे ठगी का शिकार होने की अधिक संभावना होती है। इसलिए राउंड फिगर में पेट्रोल न भरें। राउंड फिगर से 10 से 20 रुपये अधिक का पेट्रोल मिल सकता है।

 ग्राहक को बाइक या कार की खाली टंकी में पेट्रोल भरवाने से नुकसान होता है। इसका कारण यह है कि आपकी गाड़ी की टंकी में अधिक हवा होगी जब टंकी अधिक खाली होगी। ऐसे में, हवा भरने के बाद पेट्रोल की मात्रा घट जाती है।हमेशा आधा टंकी भरी रखें।

पेट्रोल पंप मालिक अक्सर मीटर में हेराफेरी करके पेट्रोल चोरी करते हैं। देश में कई पेट्रोल पंप अभी भी पुरानी तकनीक पर चल रहे हैं, जिसमें हेराफेरी करना बहुत आसान है, जानकारों का कहना है। विभिन्न पेट्रोल पंपों से तेल डलवाएं और गाड़ी की माइलेज लगातार देखते रहें।

हमेशा डिजिटल मीटर वाले पंप पर पेट्रोल भरना चाहिए। इसका कारण पुराने पेट्रोल पंपों में मशीनों की उम्र और कम पेट्रोल भरे जाने का डर है।

 बहुत से पेट्रोल पंप पर कर्मचारी आपके बताए मूल्य से कम पैसे का तेल भरते हैं। ग्राहकों को टोकने पर बताया जाता है कि मीटर जीरो पर रीसेट किया जा रहा है। लेकिन गलती से ये मीटर जीरो पर नहीं आते। इसलिए, तेल भरते समय पेट्रोल पंप मशीन का मीटर जीरो पर है।

ईंधन भरने पर अधिकांश लोग गाड़ी से नीचे नहीं उतरते। पेट्रोल पंप पर काम करने वाले लोग इससे लाभ उठाते हैं। पेट्रोल भरते समय गाड़ी से नीचे उतरें और मीटर के सामने खड़े रहें।

पेट्रोल पंपों पर तेल भरने के लिए लंबा पाइप लगाया जाता है। ऑटो में पेट्रोल डालने के बाद कर्मचारी नोजल को तुरंत निकाल लेते हैं। पाइप में बचा हुआ पेट्रोल टंकी में हर बार जाता है। वाहन बंद होने के कुछ सेकेंड बाद, पेट्रोल की नोजल को गाड़ी की टंकी में रखें. ऐसा करने से पेट्रोल पाइप में बचा हुआ पेट्रोल भी उसमें मिल जाएगा।

पेट्रोल पंप पर तेल निकलना शुरू होने पर नोजल से हाथ हटाने को कहें। नोजल का बटन दबा रहने से तेल निकलने की स्पीड कम होती है और चोरी आसान होती है।

 जब आप पेट्रोल भरवाने के लिए पेट्रोल पंप पर जाते हैं, कर्मचारी आपको अपनी बातों में उलझा देता है और आपको कुछ बताता है, लेकिन मीटर में आपके द्वारा मांगा गया पेट्रोल का मूल्य नहीं बताता।

अगर आप पेट्रोल खरीदते हैं और मीटर बहुत तेज चलता है, तो समझिए कि कुछ गड़बड़ है। पेट्रोल पंप कर्मचारी को मीटर की गति को सामान्य करने के लिए बताएं। तेज मीटर चलने से आपकी जेब पर चोट लग सकती है।

आपने पेट्रोल पंप की मशीन में जीरो देखा, लेकिन रीडिंग किस अंक से शुरू हुआ? आपको यह ध्यान रखना होगा कि १०, १५ या २० अंक से मीटर रीडिंग शुरू होती है। मीटर कम से कम 3 से शुरू होना चाहिए।
 

Tags