Mughal Empire: मुगल शहज़ादा जो हरम में पैदा हुई लड़की को दे बैठा दिल, प्यार चढ़ा परवान तो कर दिया बड़ा कांड

पुर्तगाल की एक महिला और मुगल शहजादे की प्रेम कहानी बहुत अनोखी है, वह कोई और नहीं बल्कि औरंगजेब के बेटे शाह आलम थे।  शाह आलम और पुर्तगाल की डकोस्टा की डोना जूलिया नाडी, आज हम आपको बताते हैं
 
मुगल शहज़ादा जो हरम में पैदा हुई लड़की को दे बैठा दिल

Mughal Dark Secrets:- पुर्तगाल की एक महिला और मुगल शहजादे की प्रेम कहानी बहुत अनोखी है, वह कोई और नहीं बल्कि औरंगजेब के बेटे शाह आलम थे।  शाह आलम और पुर्तगाल की डकोस्टा की डोना जूलिया नाडी, आज हम आपको बताते हैं।  इन दोनों में प्यार कैसे  हुआ था।   

अकबर के समय में पुर्तगाली हुगली में रहने लगे, जहांगीर के समय में जब उन्होंने  कब्ज़ा करना शुरू किया तो बादशाह ने क्रोधित होकर पूरी बस्ती को नष्ट कर दिया, और लगभग 4000 ईसाइयों को बंदी बना लिया गया। जिनमें जुलियाना के माता-पिता भी शामिल थे।

ये भी पढ़े:-पुराना रद्दी सा दिखने वाला 1 रुपए का नोट आपको बना सकता है करोड़पति, बस आपके नोट में होनी चाहिए ये खासियत

जूलियाना का जन्म 1645 के आसपास आगरा में हुआ था। जूलियाना की मां को समझा-बुझाकर हरम में रखा गया था। अपने माता-पिता की मृत्यु के बाद जूलियाना दिल्ली में पली-पड़ी  और बहुत कम उम्र में उनकी शादी हो गई। लेकिन वह विधवा हो गईं। 1681 बीआरसी मैं उसके लिए मुगल दरबार के दरवाजे खोले।

ये भी पढ़े:-पहली बार छपे 10 के नोट पर नही थी गांधी जी की तस्वीर, गांधी जी की जगह थी इस राजा की तस्वीर

औरंगजेब को  शहजादे मोचन शाह आलम की शिक्षा-दीक्षा का जिम्मा सौंपा, जब वह 17 वर्ष की थीं और वह 18 वर्ष के थे। वह अपने दादा शाहजहाँ की कैद से नाराज थी और उसे जुलियाना में राहत मिली। ये रिश्ता शादी में नहीं बदल सका।  औरंगजेब ने शाह आलम पर विश्वासघात का संदेह किया और उसे जेल में डाल दिया। इधर जुलियाना ने अपनी जान जोखिम में डालकर उन तक चीजे पहुँचती थी। औरंगजेब की मृत्यु के बाद शाह आलम बादशाह बना। उन्होंने जुलियाना को नहीं भुलाया, जुलियाना ने बादशाह शाह आलम के जरिए उनकी साहयता  की।

Tags