भारत का सबसे छोटा रेल्वे सफ़र जहां 3 किलोमीटर सफ़र के लिए नही देना पड़ता कोई किराया, ट्रेन की स्लो स्पीड के कारण ले पाएँगे प्रकृति की ख़ूबसूरती का मज़ा

 
भारत का सबसे छोटा रेल्वे सफ़र जहां 3 किलोमीटर सफ़र के लिए नही देना पड़ता कोई किराया, ट्रेन की स्लो स्पीड के कारण ले पाएँगे प्रकृति की ख़ूबसूरती का मज़ा

ट्रैन यात्रा का अनुभव पूरी तरह से अलग है; कुछ जगहों पर सफर इतना लंबा होता है कि यात्रा का मजा दोगुना हो जाता है, तो कुछ जगहों पर सफर इतना छोटा होता है कि लोग नहीं जानते कि वे कब अपनी मंजिल तक पहुंच गए। यदि आप केवल 3 किमी की दूरी पर ट्रेन पकड़ना चाहते हैं, तो आज हम आपको भारत की सबसे छोटी ट्रेन बताने वाले हैं।

दरअसल, नागपुर-अजनी रेल लाइन अजनी को नागपुर से 3 किमी दूर ले जाती है। इस रेलवे लाइन का मुख्य उद्देश्य अजनी से नागपुर की यात्रा कराना है। सिर्फ एक ट्रेन, “नागपुर-अजनी पैसेंजर”, इस रेल लाइन पर चलती है।

9 मिनट की यात्रा

नागपुर से अजनी के बीच ट्रेन में 9 मिनट लगते हैं। इस छोटी ट्रेन का अनुभव बहुत अलग है। इस दौरान ब्रिटिश सरकार ने इस रेलवे लाइन को बनाया था। इसे बनाने का उद्देश्य उस समय शहरों के बीच की दूरी को कम करना था। समुद्र तल से करीबन 750 मीटर की ऊंचाई पर स्थित इस रेलवे लाइन पर चलना और भी अलग है। ट्रेन चलते हुए शानदार दृश्य भी देख सकते हैं।

टिकट की आवश्यकता नहीं है

छोटी रेल लाइन पर टिकट की कोई जरूरत नहीं है। ये केवल नागपुर और अजनी के बीच 3 किमी की छोटी सी दूरी बनाती है। आप इस रेल लाइन पर ट्रेन में यात्रा करते समय टिकट नहीं खरीदना होगा क्योंकि सरकार इसके लिए धन नहीं देती। याद रखें कि ट्रेन की रफ्तार धीमी है, इसलिए आप अपनी यात्रा को आराम से कर सकते हैं।

यहाँ के मनोरम वातावरण का आनंद लें

यहां का हरा-भरा वातावरण दोनों बहुत मनोरंजक है। रेलवे लाइन तालाबों और खेतों के बीच से गुजरती है, लेकिन इससे यहां की जीवनशैली को आराम से देखा जा सकता है।

अजनी में पर्यटक स्थान

अब अजनी शहर के बारे में बात करेंगे। वास्तव में अजनी महाराष्ट्र राज्य का एक छोटा सा शहर है। जहां धान की अधिकांश खेती होती है इसके अलावा, यहां कुछ सुंदर धार्मिक स्थान हैं, जो पार्यट्कों को बहुत पसंद आते हैं। इनमें से एक है जंगली देवी मंदिर, जो अपने शांत वातावरण और सुंदर चित्रों के लिए प्रसिद्ध है। अजनी में लक्ष्मीनारायण मंदिर भी है

Tags