Goat Farming: बकरियों को जलभराव से बचाते हैं रेडीमेड दो मंजिला मकान, जानिए लागत और फायदे

 
Goat Farming: बकरियों को जलभराव से बचाते हैं रेडीमेड दो मंजिला मकान, जानिए लागत और फायदे

Goat Farming:- बरसात के मौसम में जलभराव से लोगों और पशुओं दोनों को नुकसान होता है। पशुओं के बाड़े में पानी भर जाने पर उन्हें पूरी रात खड़े रहना होगा। बाड़े में पानी जमा होने से बीमारी फैलने का खतरा भी बना रहता है। बारिश के मौसम में डायरिया, खुरपका-मुंहपका और पेट के कीड़ों की संभावना रहती है। बकरियों को इन सब परेशानियों से बचाने के लिए बाजार में प्लास्टिक से बनाए गए रेडीमेड घर उपलब्ध हैं। ये दो मंजिला घर हैं। पहली मंजिल पर बड़ी बकरियों और दूसरी मंजिल पर छोटे बकरियों को रखा जा सकता है।

रेडीमेड मकान कम जगह पर भी बकरी पालन के लिए अच्छे हैं। ये दो मंजिला मकान मथुरा के केन्द्रीय बकरी अनुसंधान संस्थान (सीआईआरजी) ने बकरी पालन में जगह की कमी को दूर करने के लिए बनाए गए हैं। एक बार बनाने के बाद यह घर 18 से 20 साल तक चलता रहेगा।

बकरियों के लिए बनाए गए इस दो मंजिला मकान में ऊपरी मंजिल की मेंगनी और बच्चों का यूरिन बड़ी बकरियों पर न गिरे इसके लिए बीच में प्लास्टिक की एक शीट लगाई जाती है। इस शीट की छत के ढलान में यूरिन और मेंगनी मकान के किनारे की ओर गिरती हैं।

छोटे बच्चे जमीन के संपर्क से बीमार होते हैं

सीआईआरजी के प्रिंसीपल साइंटिस्ट डॉ. अरविंद कुमार ने किसान तक को बताया कि दो मंजिला घर में बेशक जगह की कमी होती है और पैसे बचते हैं। लेकिन इसका सबसे बड़ा लाभ यह है कि बकरी के बच्चे बीमारियों से बच जाते हैं। बीमारियां जिन पर बहुत पैसा खर्च होता है इस तरह की इमारत के नीचे बड़ी-बड़ी बकरियां होती हैं। वहीं छोटे बच्चे ऊपरी मंजिल पर रखे जाते हैं। बच्चे ऊपरी मंजिल पर रहते हुए मिट्टी के संपर्क में नहीं आते, इसलिए वे मिट्टी खाने से बचते हैं। यदि छोटे बच्चे मिट्टी खाते हैं तो पेट में कीड़े हो सकते हैं।

चारा गंदा नहीं होता, इसलिए बीमार नहीं होते

बकरियों के शेड में बहुत सारा चारा जमीन पर गिरता है, डॉ. अरविंद कुमार ने बताया। इसके चलते चारों ओर बकरी का यूरिन और मैन्योर भी लगता है। जब बकरी या उनके बच्चे इस चारे को खाते हैं तो वे भी बीमार हो जाएंगे। इतना ही नहीं, अगर जमीन कच्ची नहीं है, तो यूरिन से निकलने वाली गैस से बकरी और उनके बच्चे बीमार पड़ सकते हैं।

1.80 लाख रुपये का दो मंजिला घर

डॉ. अरविंद कुमार कहते हैं कि एक बड़ी बकरी को लगभग डेढ़ स्वाकायर मीटर जगह चाहिए। 10 मीटर चौड़ा और 15 मीटर लम्बा दो मंजिला मकान का मॉडल हमने बनाया है। इस मॉडल घर में दस से बारह बड़ी बकरी रख सकते हैं। ऊपरी मंजिल पर भी 17 से 18 बकरी के बच्चों को आसानी से रख सकते हैं। और इस साइज का घर 1.80 लाख रुपये का है। इस घर को बनाने में लोहे की एंगिल और प्लास्टिक की शीट आसानी से उपलब्ध हैं। ऊपरी मंजिल पर फर्श बनाने का सवाल है, तो कई कंपनियां ऐसे फर्श बना रही हैं और इन्हें ऑनलाइन भी मिल रहा है।

Tags