Uttarakhand : बेटी के पहले मासिक धर्म की खुशी में काटा केक, उत्तराखंड के इस जोड़े की हो रही तारीफ

 
Uttarakhand : बेटी के पहले मासिक धर्म की खुशी में काटा केक, उत्तराखंड के इस जोड़े की हो रही तारीफ

Uttarkhand :- उत्तराखंड के देहरादून में एक कपल ने अपनी बेटी के पहले मासिक धर्म पर एक पार्टी की। दोनों ने बेटी के पहले पीरियड को मनाया है, जो समाज में व्याप्त धारणाओं से विपरीत है।

Dehradun

उत्तराखंड के रहने वाले जितेंद्र भट्ट ने मासिक धर्म को कलंक मानने वाले समाज में एक अनोखी मिसाल दी है। भट्ट की बेटी के पहले पीरियड्स पर उन्होंने कुछ ऐसा किया है कि हर कोई प्रशंसा करता है। मासिक धर्म पर आम तौर पर बहुत कम चर्चा होती है। ऐसे में लोग इसे लेकर बहुत सारे झूठ बोलते हैं। पीरियड्स को इतना अपवित्र माना जाता है कि कई धार्मिक स्थानों में लड़कियों को मासिक धर्म के दौरान प्रवेश नहीं मिलता है। जितेंद्र भट्ट, उत्तराखंड के कशीपुर निवासी, ने अपनी बेटी के पहले पीरियड्स को इन सब घटनाओं के बीच मनाया। बैठकर, दोनों ने बेटी को मासिक धर्म के बारे में बताया।

जानकारी के अनुसार, जितेंद्र भट्ट अपनी पत्नी और बेटी के साथ काशीपुर में रहते हैं। उन्हें कुछ दिन पहले अपनी बेटी के पहले मासिक धर्म के बारे में पता चला। उसने और उनकी पत्नी ने इसके बारे में बेटी को पूरी जानकारी दी। उसके सारे झूठ मिटाए। साथ ही मासिक धर्म के बारे में समाज में व्याप्त विचारों से भी उसे परिचित कराया। उन्होने बेटी को बताया कि मासिक धर्म एक सामान्य प्राकृतिक प्रक्रिया है और कोई अपवित्रता नहीं है। इसके अतिरिक्त, दोनों ने बेटी को विशिष्ट अनुभूति दिलाने के लिए इसे मनाने का निर्णय लिया। बेटी के पहले मासिक धर्म को मनाने के लिए, उन्होंने अपने करीबी लोगों को एक पार्टी में आमंत्रित किया और केट भी काटा।

फेसबुक पर पोस्ट लिखी बेटी बड़ी गई है

जितेंद्र भट्ट की इस पहल की लोगों ने दिल से प्रशंसा की है। यह घटना भट्ट ने अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट की और कहा कि बेटी बड़ी हो गई है। जितेंद्र भट्ट की इस कोशिश ने मासिक धर्म में लड़कियों को अछूत मानने वाले समाज में उनकी बेटी को खास होने का अहसास दिलाया है और समाज को बताया है कि इसे लेकर किसी भी तरह का भेदभाव करना गलत प्रथा है। महिलाएं इसे प्राकृतिक रूप से करती हैं। जितेंद्र भट्ट ने अपनी बेटी के पहले पीरियड्स पर केक काटकर उत्सव मनाने का निर्णय लिया है, जिसे लोग बहुत पसंद कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर एक वरिष्ठ पत्रकार ने लिखा कि ससुराल में बहू के पहले मासिक धर्म पर पूरे गांव को पार्टी दी जाती है क्योंकि इससे महिला का मां बनने का सफर शुरू होता है।

Tags