World's first Telephone: 1876 में पहली बार सुनाई दी थी फोन की ट्रिंग-ट्रिंग, ऐसा लगा था दुनिया का पहला टेलीफोन

 
World's first Telephone: 1876 में पहली बार सुनाई दी थी फोन की ट्रिंग-ट्रिंग, ऐसा लगा था दुनिया का पहला टेलीफोन

World's First Telephone:- यहां देखें कि दुनिया का पहला टेलीफोन कैसा दिखता था, 1876 में पहली बार फोन की ट्रिंग-ट्रिंग सुनाई दी।

वैसे तो आजकल मोबाइल फोन का इस्तेमाल सबसे अधिक होता है, लेकिन घरों से लेकर कार्यालयों में भी मोबाइल फोन जरूर मिलेंगे। हमारे जीवन में टेलीफोन, फोन और अब स्मार्टफोन ने प्रवेश किया है। तकनीक समय के साथ विकसित होती जाती है। आजकल तकनीक काफी बदल गई है और पहले से बेहतर है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि किसने और कब दुनिया में पहला टेलीफोन बनाया था?

ज्यादातर लोग शायद इस सवाल का जवाब नहीं जानते। अगर आप भी नहीं जानते तो आज हम आपको दुनिया का पहला टेलीफोन किसने बनाया था और कब बनाया था। आज हम जानेंगे कि दुनिया ने आखिर कब पहली बार ट्रिंग-ट्रिंग की आवाज सुनी थी।

पहला मोबाइल फोन

1854 में एंटोनियो मेउची ने टेलीफोन जैसे उपकरण बनाया, लेकिन 1861 में फिलिप रीस ने पहला टेलीफोन बनाया। इस फोन को रीस फोन कहा जाता है। वहीं, 1876 में अलेक्जेंडर ग्राहम बेल को टेलीफोन बनाने का पहला अमेरिकी पेटेंट मिला।

1876-1877 में पहली बार टेलीफोन सामने आया। रिपोर्टों के अनुसार, इसके निर्माता का पता नहीं लगाया जा सकता। दरअसल, 14 फरवरी 1876 को एलीशा ग्रे और अलेक्जेंडर ग्राहम बेल ने वाशिंगटन के पेटेंट ऑफिस में टेलीफोन से संबंधित स्वतंत्र पेटेंट आवेदन दिए।

फोन पर पहली बार किसने और किसको फोन किया?

10 मार्च 1876 को, अलेक्जेंडर ग्राहम बेल ने पहली बार टेलीफोन कॉल की। बेल ने अपने असिस्टेंट थॉमस वॉटसन को फोन करके "इलेक्ट्रिसिटी से बात करने" की क्षमता दिखाई।

फोन उठाते ही हेलो कहा जा रहा है, कब से?

वैसे तो टेलीफोन पर पहली कॉल से ही हेलो कहा जाता है।लेकिन इसके पीछे भी एक रोचक कहानी है। समाचार पत्रों के अनुसार, ग्राहम बेल ने अपनी प्रेमिका को फोन करते ही हेलो कहा।

Tags