फेल होने के यह है 8 कारण जिनके वजह से स्टूडेंट जीवन मे पीछे रह जाते है

स्टूडेंट्स की यह 8 गलतियाँ जिनके वजह से वह अपने जीवन मे असफल होते है । जाने क्या है वह गलतियाँ जिसको किसी भी स्टूडेंट्स को नहीं करना चाहिए । 
 
CAUSE OF STUDENT FAILURE

विद्यार्थी जीवन

एक इंसान के जीवन में विद्यार्थी जीवन बहुत महत्वपूर्ण होता है। इस दौरान विद्यार्थियों को अपने भविष्य की योजना बनानी होती है । स्टूडेंट्स को इस दौरान पढ़ाई के अलावा अन्य काम भी करना चाहिए ताकि असफलता को ना देखना पड़े । लेकिन फेल होने के कुछ अन्य आदतें भी हो सकती हैं। आज हम इस विषय पर चर्चा करेंगे।

क्यू नहीं पढ़ते है बच्चे 

विद्यार्थी जीवन में पढ़ाई सबसे महत्वपूर्ण होती है। लेकिन आज कल के कुछ विद्यार्थी पढ़ाई नहीं करते। वे परीक्षाओं की तैयारी नहीं करते और समय पर पढ़ाई नहीं करते। इससे वे परीक्षा में अच्छे अंक नहीं पाते और फेल हो जाते हैं। फिर इसका उनपर दबाव बनता जाता है जिसके कारण वह डिप्रेसन का शिकार हो जाते है । 

These are the 9 reasons for failure due to which students are left behind in life.

समय बर्बाद करते है 

विद्यार्थी जीवन में बहुत कुछ करना होता है। उन्हें पढ़ाई के अलावा बहुत सारे अन्य काम करने होंगे। लेकिन कुछ विद्यार्थी समय की व्यवस्था नहीं करते है और समय को बर्बाद कर देते है । वे सभी कामों को एक साथ करने की कोशिश करते हैं, लेकिन इससे उन्हें ध्यान नहीं लगता और वे सभी कामों में असफल हो जाते हैं।

असफलता का डर

कुछ विद्यार्थियों को असफलता का डर होता है। वे सोचते हैं कि उनके माता-पिता और दोस्तों का क्या होगा अगर वे असफल हो जाएंगे। वे इस डर से पढ़ाई में ध्यान नहीं दे पते है और परीक्षा में अच्छे अंक नहीं ला पाते। उनको यह डर समाज और परिवार के कारण होता है । 

लक्ष्यों से भटक जाना 

कुछ विद्यार्थी अपने लक्ष्यों से भटक जाते हैं। वे पढ़ाई के दौरान अपने लक्ष्यों को भूल जाते हैं और अधिक ध्यान दूसरे विषयों पर देते हैं। इससे पढ़ाई में उनका ध्यान नहीं जाता। उनको लगता है की इन्जॉय करना पार्टी करना ही जीवन है लेकिन जब उन्हे यह महसूस होता की नहीं लक्ष्य जरूरी है तब तक देर हो जाती है । 

गलतियों से नहीं सीखते

कुछ विद्यार्थी अपनी गलतियों से नहीं सीखते। वे बार-बार एक ही गलती करते हैं। इससे उनका प्रदर्शन खराब होता है और वे फेल हो जाते हैं। वे एक ही पैटर्न पर हमेशा पढ़ते है जिसके कारण उन्हे असफलता मिलती है वे कभी उसमे सुधार नहीं करते क्यूंकी वह उसी कम्फर्ट जोन मे चले जाते है । कुछ भी ज्यादा करना उनको मुस्किल लगता है । 

अन्य विद्यार्थियों से खुद की तुलना

विद्यालय के या तैयारी कर रहे कुछ विद्यार्थी अन्य विद्यार्थियों की तुलना करते हैं। वे अपने नंबर को दूसरों के नंबर से तुलना करते हैं। इससे वे आत्मविश्वास खो देते हैं और पढ़ाई में अधिक ध्यान नहीं देते। उनको लगता है मैं भी उतना ही पढ़ता हूँ फिर भी मेरा नंबर काम क्यूँ आता है और अन्य बच्चों का नंबर ज्यादा क्यूँ आता है या वे अपने जीवन मे इतने सफल कैसे है जबकि मेहनत हम दोनों बराबर करते है । 

नकारात्मक सोच

कुछ विद्यार्थी नकारात्मक सोचते हैं। वे अपने बारे में हमेशा बुरा सोचते हैं। उन्हें इससे पढ़ाई में रुचि नहीं होती और वे फेल हो जाते हैं। उनको लगता है की वे कितना भी पढ़ेंगे कभी सफल नहीं हो सकते है । 

मार्गदर्शन न मिलना 

कुछ विद्यार्थियों को सही मार्गदर्शन नहीं मिलता है। उनके माता-पिता और शिक्षक उन्हें सही मार्गदर्शन नहीं देते। वे इससे पढ़ाई नहीं कर पाते। उनको कोई गाइड ही नहीं कर पता की उनको जीवन मे क्या करना चाहिए जिसके कारण वे सफलता को प्राप्त कर लेंगे । उनको  मार्गदर्शन न मिल पाने के कारण गलत फील्ड चुन लेते है जिसमे सफल न होने पर वह खुद को जीमेदार मानने लगते है । 

विद्यार्थियों को रुचि नहीं

शिक्षा में कुछ विद्यार्थियों को पढ़ाई मे रुचि नहीं होती  है। वे पढ़ाई को कठिन मानते हैं। इससे उनका अध्ययन विफल हो जाता है। और आगे चल कर वे सफल नहीं हो पाते है । 

Tags