भारत में इस जगह है रंग बदलने वाली रहस्यमयी झील, पानी का रंग कभी नीला तो क़भी काला तो क़भी अपने आप हो जाता है हरा

 
भारत में इस जगह है रंग बदलने वाली रहस्यमयी झील, पानी का रंग कभी नीला तो क़भी काला तो क़भी अपने आप हो जाता है हरा

पहाड़ों और झीलों को देखना एक अलग ही मजा है। ऐसे प्राकृतिक स्थान किसी भी जगह को सुंदर बनाते हैं। यदि आप चाहें तो हिमाचल प्रदेश या उत्तराखंड में अद्भुत और रहस्यमयी स्थान हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि उत्तराखंड के प्रसिद्ध नैनीताल में एक झील है जिसका रंग बदलता है?

यह सच है कि खुर्पाताल से जाने-माने इस झील का पानी कभी-कभी काला, कभी हरा, तो कभी नीला हो जाता है। यदि आप भी सोच रहे हैं कि ऐसा क्यों होता है, तो चलिए आपको इस जगह की एक रहस्य बता दें।

ये रहस्यमय झील कहां है?​

हम आपसे चर्चा कर रहे झील उत्तराखंड के प्रसिद्ध स्थान नैनीताल में है। नैनीताल हिल स्टेशन में भीमताल, सातताल, नौकुचियाताल और कमल ताल जैसी कई झीलें हैं, लेकिन एक रहस्यमयी झील भी है जिसका नाम खुर्पाताल है। हर दिन इस झील का पानी रंग बदलता रहता है।

इस झील का रहस्य क्या है?

नैनीताल से लगभग 15 किमी दूर खुर्पाताल झील एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थान है। ये झील समुद्र तल से लगभग 1,000 मीटर की ऊंचाई पर है और चारों ओर पहाड़ों और देवदार के पेड़ों से घिरी हुई है। खुर्पाताल झील का नाम रहस्यमय झील है क्योंकि इसके पानी का रंग हर दिन बदलता रहता है। यहाँ का पानी कहते हैं कभी हरा, कभी लाल और कभी नीला होता है।

स्थानीय लोग इस झील के बारे में क्या कहते हैं?

स्थानीय लोगों का कहना है कि झील में चार दर्जन से अधिक शैवाल प्रजातियां हैं। ऐसे में झील का रंग बदल जाता है जब शैवाल के बीज बनकर तैयार होते हैं। लोगों का मानना है कि इस झील का पानी कभी-कभी गर्म लगता है। इसलिए इसे गर्म पानी की झील कहते हैं। कहते हैं कि झील का पानी सर्दियों में हल्का गुनगुना होता है।

सैलानियों के लिए ये झील खास क्यों हैं?

आप खुर्पाताल झील को पहाड़ों में स्थित सीढ़ीदार खेत और घने जंगल भी देख सकते हैं। यहां घूमने के लिए भी लोग आते हैं। यहां की खुशनुमा हवा और मनोरम दृश्य पर्यटकों को आकर्षित करते हैं। हालाँकि, ऐसा माना जाता है कि खुर्पाताल झील में पर्यटन या बोटिंग नहीं कर सकते हैं।

Tags