रेवेन्यू क्या है- Revenue Kya Hai In Hindi, Best Example 2023

 
रेवेन्यू क्या है- Revenue Kya Hai In Hindi, Best Example 2023

Revenge Kya Hai(रेवेन्यू क्या है) किसी कंपनी या बिजनेस को माल बेचने के बदले में जो पैसा प्राप्त होता है उसे Revenue या आय कहते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता देना चाहते हैं कि Revenue को हिंदी में राजस्व कहा जाता है। Revenue किसी भी कंपनी या बिजनेस की आर्थिक स्थिति जानने के लिए जरूरी होता है। आज इस लेख के माध्यम से हम आपको Revenue Kya Hai In Hindi, राजस्व क्या है, रेवेन्यू का क्या अर्थ होता है, रेवेन्यू क्या है और इसके प्रकार और रेवेन्यू में क्या शामिल है आदि के बारे में विस्तार से बताने का प्रयास करेंगे।

रेवेन्यू क्या है- Revenue Kya Hai In Hindi, Best Example 2023

राजस्व का क्या अर्थ होता है(Revenue Meaning In Hindi)

Revenue का अर्थ ऐसे पैसे के संदर्भ में होता है जिसे कंपनी अपना व्यापार करके कमाती है। साधारण शब्दों में कहीं तो माल को बेचकर कंपनी को जो पैसा प्राप्त होता है उसे Revenue कहते हैं। किसी भी कंपनी के राजस्व की गणना उसके उत्पाद के दाम और जितने उत्पाद बिके उसकी संख्या को आपस में गुणा करके प्राप्त किया जाता है। इसके अलावा राजस्व में Additional Income को भी शामिल किया जाता है।

आसान भाषा में समझने का प्रयास करें तो Revenue वह पैसा होता है जिसे कोई भी कंपनी या बिजनेस अपने माल को बेचकर कमाती है। जैसे अगर कोई कंपनी किसी महीने में ₹1000 की कीमत के 100 उत्पाद बेचती है तो कंपनी का कुल राजस्व ₹100000(₹1000×100) होगा।

राजस्व की परिभाषा

Revenue को आप एक Financial Metric के रूप में समझ सकते हैं जो उस पैसे के बारे में बताता है जो किसी कंपनी या बिजनेस को माल बेचने के बाद प्राप्त होता है। दूसरे शब्दों में बात करें तो Revenue वह राशि होती है जो कंपनी की Growth में निवेश करने, Shareholders को Dividend देने और कंपनी के द्वारा लिए जाने वाले कर्ज की राशि को चुकाने में इस्तेमाल की जाती है।

रेवेन्यू क्या है(Revenue Kya Hai In Hindi)

दोस्तों राजस्व को किसी बिजनेस की ऐसी आय के रूप में समझा जा सकता है जो उस बिजनेस को अपने उत्पाद ग्राहकों को बेचने पर प्राप्त होता है। राजस्व में से अगर व्यापार के खर्चे हटा दिया जाए तो Gross Profit निकलता है। इसके साथ साथ अगर इसमें से Tax और Interest को भी हटा दिया जाए तो Net Profit या शुद्ध लाभ प्राप्त होता है। राजस्व का मतलब ऐसी कमाई से होता है जो कंपनी को सेल्स करने से प्राप्त होती है। किसी भी कंपनी के वित्तीय प्रदर्शन में Revenue का बहुत Important Role होता है।

राजस्व का उदाहरण

मान लिया X एक कंपनी है जो मोबाइल फोन बेचती है। इस कंपनी के हर एक मोबाइल फोन की कीमत ₹15000 है और यह कंपनी 1 महीने में 50 मोबाइल बेचती है। तो इस हिसाब से इस कंपनी का 1 महीने का कुल Revenue= ₹15000×50= ₹750000 होता है। यह ध्यान रखने योग्य बात है कि यह कंपनी का कुल राजस्व है बहुत से लोग राजस्व को मुनाफा समझने की गलती कर बैठते हैं। अगर आप इसमें से मोबाइल फोन बनाने से लेकर उसे बेचने तक का खर्च हटा देंगे तब इसे कंपनी का कुल मुनाफा बोला जाएगा।

रेवेन्यू क्या है और इसके प्रकार

आशा करते हैं आप बहुत अच्छी तरीके से राजस्व के बारे में समझ गए होंगे अब हम आपको इसके अलग-अलग प्रकारों के बारे में जानकारी देते हैं। मोटे तौर पर राजस्व दो प्रकार के होते हैं Operating Revenue और Non Operating Revenue।

Operating Revenue, कंपनी को प्राप्त होने वाली वह आय होती है जो Operating Activities जैसे उत्पाद या सेवा को बेचने पर प्राप्त होती है। वहीं Non Operating Revenue में उस आय को शामिल किया जाता है जो जो कंपनी को Tex, Rent आदि से प्राप्त होती है।

किसी भी बिजनेस या कंपनी के वित्तीय प्रदर्शन को देखते हुए राजस्व को मुख्य रूप से 2 तरह से देखा जाता है-

  • Gross Revenue
  • Net Revenue

1. Gross Revenue(सकल राजस्व)

Gross Revenue को अन्य शब्दों में कुल राजस्व भी कहते हैं। यह वो राशि होती है जो किसी भी कंपनी को किसी भी प्रकार के खर्च या कटौती करने से पहले प्राप्त होती है। दूसरे शब्दों में कहें तो Gross Revenue वह पैसा होता है जो कंपनी को अपनी वस्तु और सेवा बेचने पर प्राप्त होता है।

2. Net Revenue(निबल राजस्व)

इसे अन्य शब्दों में शुद्ध राजस्व भी कहते हैं। दोस्तों यह वह राशि होती है जो किसी भी कंपनी को सभी खर्चे हटाने के बाद प्राप्त होती है। इसे आप Net Income या Net Profit के रूप में भी जान सकते हैं। किसी भी कंपनी की वित्तीय स्थिति का सटीक और सही पता लगाने के लिए Net Profit बहुत महत्वपूर्ण होता है।

Gross Revenue और Net Revenue के अलावा भी अन्य प्रकार के राजस्व होते हैं जिनके बारे में नीचे बताया गया है।

1. Sales Revenue

वह राजस्व जिसे कोई भी कंपनी अपनी वस्तु और सेवा को बेचकर कमाती है उसे Sales Revenue कहते हैं। यह वो आय होती है जिसे कंपनी अपने प्राइमरी बिजनेस से कमाती है।

2. Investment Revenue

यह वह राजस्व होता है जो निवेश के द्वारा प्राप्त होता है। इसे आप अपने निवेश का रिटर्न मान सकते हैं। सरल शब्दों में बात करें तो Investment Revenue वह पैसा होता है जो निवेश करने के बदले में प्राप्त होता है।

3. Service Revenue

यह वो आय होती है जो किसी भी कंपनी के द्वारा दी जाने वाली अलग-अलग सर्विस के बदले में प्राप्त होती है। जब भी कोई कंपनी किसी प्रकार की सेवा प्रदान करती है तो उसके बदले में कंपनी को जो पैसा मिलता है उसे ही Service Revenue कहते हैं।

4. Royalty Revenue

कंपनी को अपनी Intellectual Properties जैसे Patent, Copyright, Trademark के बदले में जो भी पैसा प्राप्त होता है उसे Royalty Revenue के रूप में जाना जाता है। जब कभी भी कोई व्यक्ति, संगठन या कंपनी आपकी कंपनी की Intellectual Properties इसका इस्तेमाल करता है तो वह बदले में आपको एक Royalty Amount या Fees देता है जिसे Royalty Revenue कहते हैं।

रेवेन्यू में क्या शामिल है

किसी भी बिजनेस या कंपनी के लिए रेवेन्यू में उस कंपनी के द्वारा कमाया हुआ वह पैसा शामिल होता है जो उस कंपनी ने अपनी वस्तु या सेवा को सेल करके प्राप्त किया है।

Related Post

इंडस्ट्री क्या है

अधिग्रहण क्या है

शेयर कैसे खरीदते हैं

Conclusion

आज इस लेख में हमने आपको रेवेन्यू क्या है के संबंध में पूरी जानकारी दी है साथ ही रेवेन्यू के बारे में अन्य सभी जानकारी भी विस्तार से बताई है। हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी गई है जानकारी अच्छी लगी होगी और आप इस लेख को उन लोगों तक जरूर पहुंचाएंगे जो रेवेन्यू क्या है के बारे में जानना चाहते हैं।