Mughal Harem: मुगल हरम में बादशाह ही बनाते थे शहज़ादियों के साथ अवैध संबंध, ताक़त पाने के लिए इन चीजों का करते थे इस्तेमाल

 
Mughal Harem: मुगल हरम में बादशाह ही बनाते थे शहज़ादियों के साथ अवैध संबंध, ताक़त पाने के लिए इन चीजों का करते थे इस्तेमाल

Mughal Harem:- मुगल बादशाहों ने भारत पर लंबे समय तक राज किया। मुगल बादशाहो पर भी बहुत कुछ लिखा गया है। साथ ही, इतिहास प्रेमी लोग मुगलों के बारे में अधिक जानना चाहते हैं। किताबों में मुगल शासक के बारे में बहुत सारी बातें लिखी गई हैं, जो हर किसी को हैरान कर देती हैं। मुगल शासक और उनके परिवार को किन्नर भोजन देते थे ।

किन्नर मुगल शासकों को खाना देते थे

ध्यान दें कि हकीम शाही भोजन में बहुत सारी ऐसी सामग्री मिलाकर बनाई जाती थी, जिससे बादशाहों को बल मिलता रहता था। बादशाहों के चावल पर चांदी का काम किया जाता था, जिससे उनका खाना अधिक स्वादिष्ट होता था और उनके काम में उत्साह भी बढ़ाता था।

शाही भोजन ऐसे बनाया जाता था

मुगल बादशाहों के लिए खाना खोजकर बनाया जाता था। वह गंगा नदी के पानी और बारिश से छाया हुआ पानी से बना हुआ था। क्योंकि यह पानी स्वच्छ था और खाने में शक्ति देता था।

मुगल बादशाह अपने स्वास्थ्य पर बहुत ध्यान देते थे और अपनी शक्ति को कम नहीं होने देना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने कई नुस्खे आजमाए। उनके भोजन में कई प्रकार की वराइटी थीं और खाना बहुत अध्ययन से बनाया जाता था। ताकि वे बलवान रहें।

चांदी का वर्क मुगलों को ताकत देता था और चावल को अच्छे से पचाता था, इसलिए वे चावल खाते थे। मुगल बादशाह भोजन और पेय पीने के बहुत शौकीन थे। वह खाने के लिए खास रसोई बनाते थे । वहीं किन्नर बादशाहों को भोजन देते थे।

Tags