एक लीटर Cold Drink तैयार करने में कितने पानी की ज़रूरत पड़ती है, सही जवाब सुनकर आप भी नही कर पाएँगे विश्वास

 
एक लीटर Cold Drink तैयार करने में कितने पानी की ज़रूरत पड़ती है, सही जवाब सुनकर आप भी नही कर पाएँगे विश्वास

Cold Drink : तापमान बढ़ने के साथ ही ठंडे पेय की मांग भी बढ़ने लगी है। विभिन्न बाजार में उपलब्ध कोल्ड ड्रिंक फ्लेवरों को लोग बहुत पसंद करते हैं। जब लोग कोल्ड ड्रिंक पीते हैं, तो वे इसके स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में भी बात करते हैं, लेकिन वे इसे पीना नहीं छोड़ते।

इन्हें बनाने की प्रक्रिया पर कई रिपोर्ट्स भी इंटरनेट पर उपलब्ध हैं। कोल्ड ड्रिंक बनाते समय बहुत पानी खर्च होता है।

माना जाता है कि कोल्ड ड्रिंक्स बनाने में हर दिन लाखों लीटर पानी बर्बाद होता है। कोल्ड ड्रिंक बनाने में प्रयोग होने वाले पानी से कई दवा बनाई जाती हैं।

Business Standard की एक रिपोर्ट के अनुसार, एक लीटर कोल्ड ड्रिंक बनाने में चार लीटर पानी की आवश्यकता होती है, लेकिन अब 2.5 लीटर पानी की आवश्यकता होती है। यह भी कहा जाता है कि एक लीटर कोल्ड ड्रिंक बनाने में 20 लीटर से अधिक पानी चाहिए।

वहीं, तमिलनाडु में कोल्ड ड्रिंक्स को बैन करने की मांग भी उठी है क्योंकि इसमें इतना पानी खर्च होता है। तमिलनाडु में पानी की कमी का सामना करने वाले कई संगठनों का कहना है कि राज्य में शीतल पेय कंपनियां अधिक पानी का उपयोग कर रही हैं।

वहीं राज्य में हर तरह का सूखा होता है। संगठनों का कहना है कि कंपनियां बेधड़क पानी का उपयोग कर रही हैं, जबकि राज्य के किसानों को पानी की कमी है।

क्या नुकसान हैं कोल्ड ड्रिंक पीने से?

मधुमेह से पीड़ित लोगों को ठंडे ड्रिंक में मौजूद शक्कर हानिकारक हो सकती है। 1 दिन में 2 कैन से अधिक पीने से डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है। रिपोर्ट के अनुसार, प्रतिदिन ठंडे पेय का सेवन करने वाली महिलाओं में वात रोग का खतरा 75% बढ़ जाता है।

आपको बता दें कि चार हजार लोगों पर किए गए एक अध्ययन के अनुसार कोल्ड ड्रिंक पीने से दिल का दौरा होने की संभावना दोगुना होती है। दिल का दौरा होने की संभावना भी बढ़ सकती है। हर दिन कोल्ड ड्रिंक पीना मोटापा बढ़ाता है और इनमें पाया जाने वाला सोडा हड्डियों को कमजोर करता है।

Tags