दुनिया में पहली बार भारत ने मार्केट में उतारा अपना इलेक्ट्रिक ट्रक, लुक और फ़ीचर्स देख TESLA के उड़े होश

 
दुनिया में पहली बार भारत ने मार्केट में उतारा अपना इलेक्ट्रिक ट्रक, लुक और फ़ीचर्स देख TESLA के उड़े होश

Tresa motors model VO1: ट्रेसा मोटर्स, बेंगलुरु की वाहन निर्माता कंपनी, ने अपना पहला इलेक्ट्रिक ट्रक, मॉडल वीओ.1, पेश किया। कम्पनी का दावा है कि यह विश्वव्यापी बाजार में भारत का पहला इलेक्ट्रिक ट्रक है। इसका एक्सियल फ्लक्स मोटर FLUX350 पर बना है। यह ट्रक विश्वव्यापी बाजार के लिए बनाया गया था। कम्पनी का अनुमान है कि भारत में 2.8 मिलियन ट्रक हैं, जो उत्सर्जन में 60% योगदान देते हैं। ऐसे में जीरो उत्सर्जन वाले हैवी और मीडियम ट्रकों की बहुत जरूरत है। 2024 में विद्युत स्क्रैपेज नियमों और ईंधन की लागत बढ़ने के कारण, मीडियम और हैवी इलेक्ट्रिक ट्रकों को खरीदने का सही समय है।

Axial flow motor technology, FL350, जो लगातार 350KW तक पावर देता है, ट्रैसा ट्रकों का सबसे बड़ा गुण है। यह विशेषता ट्रेसा को भारत में पावर आउटपुट का एकमात्र ओईएम बनाती है। एक्सियल फ्लक्स मोटर्स अपने हल्के वजन और छोटे आकार के लिए प्रसिद्ध हैं।

पूर्ण चार्ज पर कितनी रेंज

इसकी बैटरी पैक पूरी तरह से चार्ज होने पर 600 किलोमीटर की दूरी तय कर सकती है। जबकि रैपिड चार्जिंग 20 मिनट में 400 किमी की रेंज दे सकती है। 11 टन का पेलोड ट्रक में भरा जा सकता है। इसमें स्वचालित ट्रांसमिशन है। ट्रक की अधिकतम स्पीड 80 किमी प्रति घंटा है।

“ट्रेसा की टीम ने अपने कॅरियर में 200 से ज्यादा तरह के ट्रकों का निर्माण किया है (भारत, जर्मनी, यूएस और जापान में) और विगत समय में 2 मिलियन से ज्यादा यूनिट्स की बिक्री की है!”

Tags