Countries With Highest Motorbikes: भारत में दुनिया में सबसे ज्यादा बाइक सवार, अकेले इसी राज्य में हैं 3.78 करोड़ गाड़ियां

 
Countries With Highest Motorbikes: भारत में दुनिया में सबसे ज्यादा बाइक सवार, अकेले इसी राज्य में हैं 3.78 करोड़ गाड़ियां

Countries With Highest Motorbikes:- 2020 में भारत में 32.63 करोड़ कार थीं। इनमें पिछले दो वर्षों में करीब 2 करोड़ नए वाहन शामिल हुए हैं। इस साल 34.8 करोड़ गाड़ी आई हैं।

वाहनों की सबसे अधिक संख्या

क्या आप करेंगे अगर कोई आपसे पूछे कि दुनिया में सबसे ज्यादा रजिस्टर्ड टू-व्हीलर कहां हैं? हम आपको बता देंगे। रोड ट्रांसपोर्ट ईयर बुक की एक नवीनतम रिपोर्ट के अनुसार, भारत में सबसे अधिक रजिस्टर्ड टू-व्हीलर हैं। इस मामले में इंडोनेशिया दूसरे स्थान पर है। भारत विश्व में आठवें नंबर पर कार खरीदने वाले देश है। चीन सबसे अधिक कार खरीदता है, इसके बाद अमेरिका और जापान आते हैं।

International Road Federation की 2020 के आंकड़ों का हवाला देते हुए रिपोर्ट में विभिन्न देशों की स्थिति का विश्लेषण किया गया है। ताजा रिपोर्ट के अनुसार, 2020 में भारत के सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में 32.63 करोड़ गाड़ी थीं। इनमें से लगभग 75% टू-व्हीलर थे। वाहनों की संख्या में पिछले तीन सालों में दो करोड़ का इजाफा हुआ।

भारत में 34.8 करोड़ गाड़ी हैं

जुलाई के मध्य तक भारत में लगभग 34.8 करोड़ गाड़ी थीं। सरकारी वाहन पोर्टल इस आंकड़े का स्रोत है। देश भर में गाड़ी की संख्या बढ़ने से पता चलता है कि लोग आने-जाने के लिए प्राइवेट कार को ही अधिक महत्व दे रहे हैं। साथ ही, टू-व्हीलर कारों के आगमन से सड़क दुर्घटना का खतरा भी बढ़ा है।

महाराष्ट्र, दिल्ली और फरीदाबाद सबसे अच्छे हैं

महाराष्ट्र सरकारी आंकड़े के अनुसार सभी राज्यों और यूटी में सबसे आगे है। महाराष्ट्र में 3.78 करोड़ रजिस्टर्ड गाड़ी हैं। उत्तर प्रदेश में 3.49 करोड़ रजिस्टर्ड गाड़ियां हैं, जो दूसरे स्थान पर हैं। तीसरे स्थान पर 3.21 रजिस्टर्ड गाड़ियों के साथ तमिलनाडु है।

दिल्ली, दस लाख से अधिक लोगों वाले शहरों में 1.18 करोड़ रजिस्टर्ड गाड़ियों के साथ सबसे पहले स्थान पर है। बेंगलुरु 96.4 लाख रजिस्टर्ड गाड़ियों के साथ दूसरे स्थान पर है। दिल्ली से सटे फरीदाबाद ने भी लोगों को हैरान कर दिया है। 18.6 लाख रजिस्टर्ड कमर्शियल गाड़ियां यहां सबसे अधिक हैं।

दुर्घटना का खतरा

सरकार को निजी वाहनों की तेजी से बढ़ती संख्या चिंता का विषय है। अच्छे सार्वजनिक परिवहन प्रणाली की कमी से लोग प्राइवेट कार खरीदना पसंद कर रहे हैं। वहीं, बाइक चलाने वालों की संख्या बढ़ने से दुर्घटना दर बढ़ जाती है। मलेशिया में लगभग 50% गाड़ी टू व्हीलर हैं। अब टकराव से बचने के लिए वहां अलग लेन बनाई गई है।

Countries With Highest Motorbikes: 2020 में भारत में 32.63 करोड़ कार थीं। इनमें पिछले दो वर्षों में करीब 2 करोड़ नए वाहन शामिल हुए हैं। इस साल 34.8 करोड़ गाड़ी आई हैं।

वाहनों की सबसे अधिक संख्या

क्या आप करेंगे अगर कोई आपसे पूछे कि दुनिया में सबसे ज्यादा रजिस्टर्ड टू-व्हीलर कहां हैं? हम आपको बता देंगे। रोड ट्रांसपोर्ट ईयर बुक की एक नवीनतम रिपोर्ट के अनुसार, भारत में सबसे अधिक रजिस्टर्ड टू-व्हीलर हैं। इस मामले में इंडोनेशिया दूसरे स्थान पर है। भारत विश्व में आठवें नंबर पर कार खरीदने वाले देश है। चीन सबसे अधिक कार खरीदता है, इसके बाद अमेरिका और जापान आते हैं।

International Road Federation की 2020 के आंकड़ों का हवाला देते हुए रिपोर्ट में विभिन्न देशों की स्थिति का विश्लेषण किया गया है। ताजा रिपोर्ट के अनुसार, 2020 में भारत के सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में 32.63 करोड़ गाड़ी थीं। इनमें से लगभग 75% टू-व्हीलर थे। वाहनों की संख्या में पिछले तीन सालों में दो करोड़ का इजाफा हुआ।

भारत में 34.8 करोड़ गाड़ी हैं

जुलाई के मध्य तक भारत में लगभग 34.8 करोड़ गाड़ी थीं। सरकारी वाहन पोर्टल इस आंकड़े का स्रोत है। देश भर में गाड़ी की संख्या बढ़ने से पता चलता है कि लोग आने-जाने के लिए प्राइवेट कार को ही अधिक महत्व दे रहे हैं। साथ ही, टू-व्हीलर कारों के आगमन से सड़क दुर्घटना का खतरा भी बढ़ा है।

महाराष्ट्र, दिल्ली और फरीदाबाद सबसे अच्छे हैं

महाराष्ट्र सरकारी आंकड़े के अनुसार सभी राज्यों और यूटी में सबसे आगे है। महाराष्ट्र में 3.78 करोड़ रजिस्टर्ड गाड़ी हैं। उत्तर प्रदेश में 3.49 करोड़ रजिस्टर्ड गाड़ियां हैं, जो दूसरे स्थान पर हैं। तीसरे स्थान पर 3.21 रजिस्टर्ड गाड़ियों के साथ तमिलनाडु है।

दिल्ली, दस लाख से अधिक लोगों वाले शहरों में 1.18 करोड़ रजिस्टर्ड गाड़ियों के साथ सबसे पहले स्थान पर है। बेंगलुरु 96.4 लाख रजिस्टर्ड गाड़ियों के साथ दूसरे स्थान पर है। दिल्ली से सटे फरीदाबाद ने भी लोगों को हैरान कर दिया है। 18.6 लाख रजिस्टर्ड कमर्शियल गाड़ियां यहां सबसे अधिक हैं।

दुर्घटना का खतरा

सरकार को निजी वाहनों की तेजी से बढ़ती संख्या चिंता का विषय है। अच्छे सार्वजनिक परिवहन प्रणाली की कमी से लोग प्राइवेट कार खरीदना पसंद कर रहे हैं। वहीं, बाइक चलाने वालों की संख्या बढ़ने से दुर्घटना दर बढ़ जाती है। मलेशिया में लगभग 50% गाड़ी टू व्हीलर हैं। अब टकराव से बचने के लिए वहां अलग लेन बनाई गई है।

Tags