गर्लफ़्रेंड के साथ Hotel रूम बुक करने से पहले इन बातों का रख ले ध्यान, होटलों के नियमों में हुआ बड़ा बदलाव

 
गर्लफ़्रेंड के साथ Hotel रूम बुक करने से पहले इन बातों का रख ले ध्यान, होटलों के नियमों में हुआ बड़ा बदलाव

OYO Hotel Latest Condition: देश भर में अवैध रूप से संचालित होम स्टे, गेस्ट हाउस, ओयो होटल आदि की गतिविधियों को पुलिस अपनी रडार पर रखेगी। गृह विभाग इन सभी को एक विशिष्ट कानूनी प्रक्रिया में शामिल करने के लिए नियम बना रहा है। इस नियम के तहत प्रत्येक व्यक्ति को पंजीकरण कराना अनिवार्य होगा। इसके अलावा, आगंतुकों की जानकारी और सुरक्षा के नियम बनाए जाएंगे। इन प्रतिष्ठानों को संचालित करने वालों को पुलिस को जवाब देना होगा।

OYO होटल्स में बढ़ती मांग

शहरों और कस्बों में व्यावसायिक एक्टिविटीज की वृद्धि से होटलों और गेस्ट हाउसों की डिमांड काफी बढ़ी है। OYO होटल न्यू नियम (OYO Hotel New Rule) के तहत होटल, होम स्टे या गेस्ट हाउस से जुड़े प्रतिष्ठानों को चलाने वालों को रजिस्ट्रेशन करना अनिवार्य है। हालाँकि, जांच में पता चला कि ओयो रूम्स, होटल और होम स्टे जैसी चेन हर शहर में व्यापक रूप से ऑनलाइन बिजनेस चेन और सेवा प्रदाताओं के माध्यम से खुल रहे हैं, बगैर किसी आवश्यक रजिस्ट्रेशन के। इनमें से कई शहरी क्षेत्रों में हैं, जहां व्यावसायिक गतिविधियों की अनुमति भी नहीं है।

OYO होटल में निगरानी महत्वपूर्ण है

एक अधिकारी ने कहा कि ये संस्थाएं सराय नियम के मौजूदा नियमों की कमियों का फायदा उठाकर चलती हैं। रजिस्ट्रेशन नहीं होने के कारण कई बार केस दर्ज नहीं होते। इससे जवाबदेही का निर्धारण मुश्किल होता है। सीसीटीवी नहीं होना, अतिथियों का परिचय पत्र नहीं लेना और अन्य अनियमितताएं सामने आती हैं। यही कारण है कि दुर्घटना होने पर दोषियों की पहचान करना भी मुश्किल होता है।

ध्यान दें कि औचक छापेमारी में कई बार देह धंधा या अपराधियों के गिरफ्तार के मामले सामने आए हैं। फायर सेफ्टी नियम पूरे नहीं हैं। व्यापार चलन के मद्देनजर इनके नियंत्रण के लिए कार्रवाई करना बहुत महत्वपूर्ण है। यही कारण है कि गृह विभाग ने यूपी होटल और अन्य क्षेत्रों के लिए OYO Hotel New Rule बनाया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पिछले महीने इसका प्रस्तावित संस्करण दिखाया गया था।

New Rule के तहत OYO Hotel को लाइसेंस मिलना चाहिए

OYO होटल नए नियमों के तहत स्टे रूम या होटलों की बुकिंग के लिए पोर्टल शुरू करने का भी प्रस्ताव है, सूत्रों ने बताया। यहां हर संस्था का पंजीकरण होना चाहिए। लाइसेंस देने की प्रक्रिया और संचालकों की जिम्मेदारी निर्धारित करने की शर्तें बनाई जाएंगी। पंजीकृत एक्टिविटीज में शामिल संस्थाओं को सील करना, कुर्की करना और तलाशी करना शामिल होगा।

Tags