Home Trending News UP News Tech Haryana News Weather Gold-Silver Price More

हरियाणा में आशा वर्कर से लेकर आंगनवाड़ी वर्कर और हेल्प की हुई मौज, इस सरकारी योजना का उठा सकेंगे लाभ

By Rahul Junaid

Published on:

हरियाणा के आशा वर्करों आंगनबाड़ी वर्करों और हेल्परों के लिए बड़ी खुशखबरी है। उन्हें अब आयुष्मान भारत और चिरायु योजना के अंतर्गत 5 लाख रुपये तक के कैशलेस इलाज की सुविधा प्राप्त होगी। इस खबर से संबंधित कर्मियों में बहुत उत्साह और खुशी का माहौल है।

इस पहल की सफलता से न केवल स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार होगा बल्कि यह आशा और आंगनबाड़ी कर्मियों को उनकी अथक सेवाओं के लिए एक ठोस समर्थन प्रदान करेगा। यह योजना न केवल उनके लिए बल्कि पूरे समाज के लिए लाभकारी सिद्ध होगी।

कैशलेस इलाज की सुविधा

आयुष्मान योजना के नोडल अधिकारी डॉक्टर विशाल के अनुसार कई जगहों पर योजना के तहत जारी कार्ड्स की प्रक्रिया अभी पेंडिंग है। इसे तेजी से पूरा करने के लिए जल्द ही शहरों और गांवों में विशेष कैंप लगाए जाएंगे।

लोगों से अपील की गई है कि वे इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए अपने कार्ड बनवा लें। इस कार्ड की मदद से हर साल 5 लाख रुपये तक का इलाज कैशलेस पद्धति से कराया जा सकता है।

रेवाडी में लक्ष्य पूरा करने की दिशा में पहल

रेवाडी जिले में लक्ष्य के अनुसार 80 हजार नए कार्ड बनाने की योजना है। अब तक जिले में 3 लाख 88 हजार कार्ड बन चुके हैं और लगभग 92 हजार कार्ड अभी भी लंबित हैं।

स्वास्थ्य विभाग ने इन पेंडिंग कार्ड्स को जल्दी से जल्दी तैयार करने की तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए सीएचसी स्तर पर एक विशेष टीम का गठन किया गया है जो इस कार्य को सुचारु रूप से आगे बढ़ाएगी।

आशा और आंगनबाड़ी कर्मियों के लिए एक नई उम्मीद

इस नई पहल से आशा वर्कर्स आंगनबाड़ी वर्कर्स और हेल्पर्स को न केवल वित्तीय सहायता मिलेगी बल्कि उन्हें स्वास्थ्य सुरक्षा का भी अधिक समर्थन प्राप्त होगा। यह योजना उनके कार्य की सराहना करने का एक तरीका है जो समाज में उनके अमूल्य योगदान को मान्यता देती है।

Related Post